मंगलवार, 24 जनवरी 2012

यादें....

यादों की बेनजीर नजीरें.... उफ़ और आह !!!! 
कभी सबब गम का तो कभी दे गम से पनाह....
....वन्दना....