मंगलवार, 16 अगस्त 2011

प्रीत....



कष्ट में सुख में सदा,
उर बसी रहे प्रीत....
प्रीत से ज्योतित ह्रदय,
गाए नए नित गीत...
...वन्दना...